भारत का संविधान

"हम भारतवासी,गंभीरतापूर्वक यह निश्चय करके कि भारत को सार्वभौमिक,लोकतांत्रिक गणतंत्र बनाना है तथा अपने नागरिकों के लिए------- न्याय--सामाजिक,आर्थिक,तथा राजनैतिक ; स्वतन्त्रता--विचार,अभिव्यक्ति,विश्वास,आस्था,पूजा पद्दति अपनाने की; समानता--स्थिति व अवसर की व इसको सबमें बढ़ाने की; बंधुत्व--व्यक्ति की गरिमा एवं देश की एकता का आश्वासन देने वाला ; सुरक्षित करने के उद्देश्य से आज २६ नवम्बर १९४९ को संविधान-सभा में,इस संविधान को अंगीकृत ,पारित तथा स्वयम को प्रदत्त करते हैं ।"

Visitors

पहली पंक्ति अभय जी की....!!

शुक्रवार, 12 दिसंबर 2008


अभय मिश्रा भाई.............आपकी एक पंक्ति चुराई है....इस पर माफ़ करेंगे........करेंगे ना....पहली पंक्ति ही आपकी है....मुझसे रहा नहीं गया....मैंने भी...........आप समझ गए ना......!!


जज़्बातों की राख में कोई तपिश नहीं होती......
जिनके भीतर कुछ करने की जुम्बिश नहीं होती !!
आदमी भूल गया है कि उसे कुछ करना भी है....
वगरना जमीं पर उसकी पैदाईश हुई नहीं होती...!!
हम खुशियों को भी संभालकर नहीं रख पाते....
अगर ग़मों से हमारी आजमाईश हुई नहीं होती...!!
अगर कुछ करना चाह ही लेते हैं हम " गाफिल "
तो फिर किसी शक सुबहा की गुंजाईश नहीं होती !!
Share this article on :

6 टिप्‍पणियां:

विवेक सिंह ने कहा…

बेहतरीन रही .

हिमांशु ने कहा…

अगर कुछ करना चाह ही लेते हैं हम " गाफिल "
तो फिर किसी शक सुबहा की गुंजाईश नहीं होती !!

बेहतरीन पंक्तियां . धन्यवाद.

seema gupta ने कहा…

" hmmm pehli line Abhay ji ki churai, or chitr khan se ..,.?????????? ha ha "

regards

ilesh ने कहा…

sundar rachna.....

"अर्श" ने कहा…

अगर कुछ करना चाह ही लेते हैं हम " गाफिल "
तो फिर किसी शक सुबहा की गुंजाईश नहीं होती !!

behad umda bat kahi aapne sahab,.. bahot khub likha hai aapne .. us chori ko sach sabit kar diya ke chori behatari ke liye kiya tha bahot hi umda likha hai aapne.. dhero badhai magar ye tasvir kahan se lagai hai aapne???/ seema ji ke sawal ka jawab????? ha ha koi nahi.

regards
arsh

अल्पना वर्मा ने कहा…

हम खुशियों को भी संभालकर नहीं रख पाते....
अगर ग़मों से हमारी आजमाईश हुई नहीं होती...!!

khuub likhtey hain aap!

 
© Copyright 2010-2011 बात पुरानी है !! All Rights Reserved.
Template Design by Sakshatkar.com | Published by Sakshatkartv.com | Powered by Sakshatkar.com.